पेंट कैसे बनता है, पेंट में मिले पदार्थ, फायदे (आवयश्यकता), पेंट बनाने की पूरी प्रक्रिया | How Paint is Made, Paint Materials, Painting Benefits in Hindi

how paint is made

वस्तु को आकर्षक दिखाने तथा जंग लगने से सुरक्षा में पेंट (Paint) महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। पेंट करने से पहले हमे यह जानना जरुरी है कि पेंट कैसे बनता है और पेंट करने के फायदे क्या होते है। इसके बाद पेंट बनाने की पूरी प्रकिया तथा पेंट बनाने में इस्तेमाल किये जाने वाले पदार्थों को … Read more

How to Calculate Cement Mortar Quantity for Brickwork | चिनाई कार्य में सीमेंट मोर्टार की मात्रा कैसे ज्ञात करें?

calculate masonry cement mortar

चिनाई कार्य में सीमेंट मोर्टार की मात्रा की गणना से निर्माण में लगने वाली लागत का ठीक से अंदाजा लग जाता है। इस लेख में हम How to Calculate Cement Mortar Quantity for brick work (Masonry) को जानेंगे। जिससे सीमेंट मोर्टार में लगने वाले खर्च का बेहतर बजट बनाकर और लागत को ध्यान में रखकर … Read more

प्लास्टर में सीमेंट, मौरंग की गणना कैसे करें? | How to Calculate Cement Mortar in Plaster hindi

calculate cement morang quantity

प्लास्टर में सीमेंट, मौरंग की गणना करने से समान की मात्रा का पता चल जाता है। जिससे हम जरूरत के अनुसार ही समान की मात्रा खरीदते है। इसके साथ ही प्लास्टर के लिए सीमेंट, मौरंग में होने वाले खर्च का भी पता चल जाता है। इस लेख में हम प्लास्टर के लिए सीमेंट, मौरंग की … Read more

कोटिमान किसे कहते है?, कोटिमान की परिभाषा, उदाहरण, कोटिमान ज्ञात करने का तरीका

order of magnitude

यदि आपको कोटिमान निकालने का तरीका पता है तो किसी भी संख्या का कोटिमान (Order of Magnitude) निकालना एक सरल प्रकिया है। संख्या का कोटिमान ज्ञात करने के लिए संख्या को 10 की घात के रूप में लिखना होता है। इस लेख में कोटिमान किसे कहते है, इसकी परिभाषा, उदाहरण, कोटिमान ज्ञात करने का तरीका … Read more

निकट दृष्टि दोष तथा दूर दृष्टि दोष किसे कहते है? परिभाषा, कारण, निवारण को चित्र सहित समझे

myopia hypermetropia

मानव नेत्र शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है। कभी-कभी मानव नेत्र में ऐसे नेत्र दोष उत्पन्न हो जाते है जिनसे दूर या पास की वस्तु को देखने में परेशानी का सामना करना पड़ता है। इन दोषों को ही निकट दृष्टि दोष तथा दूर दृष्टि दोष कहते है। नेत्र में मुख्य रूप से दो प्रकार के … Read more

स्लैब ढलाई के लिए सीमेंट, मौरंग, गिट्टी की गणना कैसे करें? स्लैब ढलाई कैलकुलेटर के साथ

how to calculate concrete volume

ढलाई के लिए सीमेंट, मौरंग, गिट्टी की गणना करने से समान की मात्रा का पता चल जाता है। जिससे हम जरूरत के अनुसार ही समान की मात्रा खरीदते है। इसके साथ ही ढलाई के लिए सीमेंट, मौरंग, गिट्टी में होने वाले खर्च का भी पता चल जाता है। इस लेख में हम किसी भी आकार … Read more

वृत्तीय गति किसे कहते है? वृत्तीय गति के उदाहरण, परिभाषा, सूत्र, कोणीय विस्थापन, कोणीय वेग तथा रेखीय वेग में सम्बन्ध

वृत्तीय गति (circular motion)

वृत्तीय गति में कण वृत्तीय पथ पर गति करता है। वृतीय गति के उदाहरण दैनिक जीवन में भी देखने को भी मिलते है। यदि हम डोरी के एक सिरे पर वस्तु को बाँधकर क्षैतिज वृत्त में घुमाए तो उसकी गति भी वृतीय गति कहलाती है। एक लेख में हम वृत्तीय गति की परिभाषा, सूत्र, चित्र, … Read more

दीवार में ईंटों की संख्या कैसे ज्ञात करें | How to calculate number of bricks in a wall with brick calculator

दीवार में ईंटों की संख्या

कोई भी व्यक्ति जो सिविल इंजीनियर के तौर पर अपना करियर शुरू करने जा रहा है उसके जीवन में यह सवाल जरूर आता है कि दीवार में ईंटों की संख्या कैसे ज्ञात करें या How to calculate bricks in a wall। यदि आप अपना घर बनवाने जा रहा है तो आपको भी दीवार में ईंटों … Read more

पृथ्वी तल से नीचे जाने में g के मान में परिवर्तन | Gravitational Acceleration below the Earth Surface

पृथ्वी तल से नीचे जाने पर g का मान

पृथ्वी तल पर g (गुरुत्वीय त्वरण) का मान 9.81 मीटर/सेकंड² होता है। पृथ्वी तल से नीचे जाने पर g का मान लगातार घटता जाता है और पृथ्वी के केंद्र पर g का मान शून्य हो जाता है। पृथ्वी तल से नीचे जाने में g का मान क्यों घटता है? तथा पृथ्वी के केंद्र में g … Read more

पृथ्वी तल से ऊपर जाने में g के मान में परिवर्तन | Gravitational Acceleration above the Earth Surface

पृथ्वी से ऊपर जाने पर g के मान में परिवर्तन

पृथ्वी तल पर g (गुरुत्वीय त्वरण) का मान 9.81 मीटर/सेकंड² होता है। पृथ्वी तल से ऊपर तथा नीचे जाने में g का मान घटता है। पृथ्वी तल से ऊपर जाने में g का मान घटता जाता है जैसे-जैसे ऊंचाई बढ़ती जाती है उसी तरह से g गुरुत्वीय त्वरण का मान कम होता जाता है। पृथ्वी … Read more